शिक्षण-सत्र 4 : कवियो का आत्मिक भोजन

निर्देश देने वाले भाग में ; अय्यूब -मलाकी : 22 पुस्तके हैं जिन्हें हम दो खण्डों में विभाजित करेंगेंः काव्यात्मक ;5  पुस्तकें तथा भविष्यवाणी की पुस्तकें ;17। आधारभूत भाग में हमने परमेंश्वर के कम्पास की कुशलता को उसके लोगों के लिये में उपयोग में लाया तथा इतिहास के खण्ड़ हमनें देखा के कि उस कैम्पस के संबंध में लोगों ने क्या किया। इस भाग में हम कवियों के दृष्टि से लोगों के अनुभवों को देखेंगें, उस अनुभव में उनके ह्दय के विषयों की जॉच  करेगें और उसमें परमेंश्वर के प्रोत्साहन तथा उनके निर्देशो के सुधार दोनो को अनुभव करेगें। कवियों में आपका स्वागत है! आत्मा के भोजन के लिये तैयार हो जाओ।

Sharing Links

Speaker