Hindi

FAQs

Yes. As finances allow, we will be translating all of our Foundation classes into Hindi.

Courses

COURSE 1
Dr. Bill Mounce | 7 Hours

हमारा १२ सप्ताह का पाठ्यक्रम छात्रों का ध्यान सही दिशा में लगाता है और यह परिपक्व विश्वासियों को उत्साहित करता है कि वह उन्हें शिक्षा दें. एक सप्ताह में, छात्र बाइबिल के वचनों के साथ बातचीत करता है और उसे उत्साहित किया जाता है कि वह प्रतेक दिन लिखना, प्रार्थना करना और बाइबिल के पदों को याद करना शुरू करें. उसके पश्चात छात्र और शिक्षिक ३० मिनट के सन्देश को अध्यन करने वाले नोट्स जो उन्हें प्रदान किये गए हैं, के साथ सुनते हैं, वह एक साथ विचार करने वाले प्रश्नों पर कार्य करते हैं और उसके उपरांत उनके पास दो दिन होते हैं कि जो उन्होंने सीखा है, उसके ऊपर वह विचार कर सकें.

COURSE 2
Dr. Bert Downs | 5 Hours

हम में से कुछ लोगों का बाइबल का ज्ञान रेफ़्रीजरेटर के दरवाज़े पर लगे नोट्स की तरह हैं, और इन सभी में एक महत्वपूर्ण संदेश है, परंतु इनका आपस में कोई भी मेल नहीं है। कुछ के लिए यह शब्दकोश की तरह है, इसमें जानकारी के महत्वपूर्ण टुकड़े हैं परंतु इनमें कहानी का कोई धागा नहीं है। यह शृंखला आपकी सहायता करेगी कि यह सभी टुकड़े समझ में आ सकें। डॉक्टर डाउनस आपको एक फ़ाइल कैबिनेट देंगे जिसमें आप अपने व्यक्तिगत फ़ाइल फ़ोल्डर को डाल सकते हैं। मैं यह नहीं जानता कि आयु क्या है, शायद ऐसी कोई आयु न हो, परंतु हमारे आत्मिक विकास के वर्षों में किसी न किसी जगह पर सिखाने के कोर्स में यह आवश्यक होगी। यदि आप बाइबल को एक मेज़ के रुमाल के ऊपर संक्षेप में जानना चाहते हैं, तो यह आपको एक तरीक़ा देगा कि आप यह कर सकें।.

COURSE 3
Dr. Bill Mounce | 26 Hours

उत्पत्ति का पहला अध्याय सम्पूर्ण बाइबिल के लिये मूल-भूत अध्याय है। यह हमें केवल यह ही नहीं बताता है कि सारी चीजों का आरम्भ कैसे हुआ, परन्तु यह इस बात की बुनियादी शिक्षा भी देता है कि परमेश्वर कौन है और हम परमेश्वर से कैसे सम्बन्धित हैं। इतिहास और विज्ञान के द्वितीय मुद्दों पर तर्क वितर्क न करके, उत्पत्ति का 1 अध्याय हमें बताता है कि हमंे अपनी आखें स्वर्ग की ओर लगानी चाहिये। जो परमेश्वर की महिमा का अद्भुत बयान करता है।.

COURSE 4
Prof. I. Howard Marshall | 6 Hours

Every Christian ought to have a working knowledge of basic Christian doctrine. This class gives the basic essentials in short compass so that the student may obtain a reasonably complete bird's eye view of the subject. It is a simple, straightforward introduction to the subject that most Christians will find they need.