23. होशे | Free Online Bible Classes

Lecture 23: 23. होशे

होशे ने उन लोगों की भविष्यवाणी की जो लगातार पाप में जीवन बिता रहे थे। उनके पापों ने उन्हें मूर्तिपूजा में गिराकर विलासिता के पाप में ढकेल दिया। यहाँ तक कि पाप के तलवे से जब उन्होंने पर्याप्त दण्ड का अनुभव कर लिया, परमेश्वर उन्हें अभी भी माफ करने के लिये विद्यमान है। पापियों को ”वैश्या“ कहा गया है। यानी विश्वासघाती जीवन।

Speaker