52. प्रकाशितवाक्य

बाइबल इस बात की भविष्यवाणी के साथ बन्द होती है कि समस्त वस्तुएँ कैसे समाप्त होंगी। इस पुस्तक के सही अर्थ को जानने के लिये बहुत सारे प्रश्न हैं इसका केन्द्रीय सन्देश बिलकुल स्पष्ट है परमेश्वर हमें कष्टों और सताव से नहीं बचाएगा। यह और भी बुरा होता जाएगा। परमेश्वर ने हमें कष्टों के बीच में भी विश्वासयोग्य होने के लिये बुलाया है। यदि हम अन्त तक विश्सवासयोग्य बने रहें तो हमें ईनाम मिलेगा। हम एक नए आकाश और नई पृथ्वी की बाट जोह रहे हैं जहाँ पर कोई भी कष्ट नहीं होगा, कोई दुःख और पाप नहीं होगा। अन्त में फिर से अदन का बगीचा स्थापित होगा। हमें इसलिये बनाया गया था कि हम परमेश्वर के साथ सहभागिता करें और हम उस दिन का इन्तजार कर रहे हैं जब यीशु हमें फिर से घर ले जाने के लिये आएँगे।

Speaker